[Hindi] operating system components क्या है ? | system components in os in hindi

system components in os, system components in os in hindi, system components in hindi,कंपोनेंट्स ऑफ़ कंप्यूटर सिस्टम,components of computer system in hindi, system components in hindi, कंपोनेंट्स ऑफ कंप्यूटर, components of operating system,



आधुनिक ऑपरेटिंग सिस्टम को कुछ निम्न भागों में बांटा जा सकता है -




प्रोसेस मैनेजमेंट
(Process management)

प्रोसेस एक ऐसा प्रोग्राम है जो एक्जिक्यूट हो रहा है, कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य करने के लिए प्रोसेस एक इकाई के रूप में कार्य करती है प्रोसेस दो प्रकार की हो सकती है,

  • ऑपरेटिंग सिस्टम प्रोसेस

  • यूजर प्रोसेस



ऑपरेटिंग सिस्टम प्रोसेस 
(Operating System Process)

यह प्रोसेस सिस्टम कोड को एग्जीक्यूट करती है, ऑपरेटिंग सिस्टम के अंतर्गत आने वाली विभिन्न तरह की सभी प्रोसेस इसी के अंतर्गत आती हैं ऑपरेटिंग सिस्टम की तरफ से जितने भी प्रोसेस का संचालन किया जाता है सभी को इसी में शामिल कर लिया जाता है,



यूजर प्रोसेस 
(User process)

यह यूजर कोर्ट को एग्जीक्यूट करती है यूजर के द्वारा जितनी भी तरह की प्रोसेस को चलाया जाता है सभी इसके अंतर्गत आती हैं जैसे कि किसी भी तरह का एप्लीकेशन ओपन करना उसमें काम करना और फिर एग्जिट क्यों करना यह सभी यूजर प्रोसेस के अंतर्गत आता है।


प्रोसेस मैनेजमेंट सिस्टम कॉम्पोनेंट्स निम्न कार्यों के लिए उत्तरदाई होता है :-


  • यूजर सिस्टम प्रोसेस को ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा बनाया तथा हटाया जाता है,

  • ऐसी प्रोसेस जो किसी इनपुट, आउटपुट के लिए सस्पेंड की गई है जैसे ही उनका इनपुट आउटपुट का कार्य पूरा हो जाता है, पुनः कार्य प्रारंभ कर देती हैं इस संपूर्ण प्रक्रिया को संचालन OS की निगरानी में करता है,

  • OS डेडलॉक को हैंडल करने की विधियां प्रदान करता है,

  • प्रोसेस शेड्यूलिंग को भी OS द्वारा हैंडल किया जाता है,



मेमोरी मैनेजमेंट 
(Memory Management )

प्रत्येक प्रोग्राम के क्रियान्वयन (एग्जीक्यूशन )के लिए यह आवश्यक है कि उसे मेन मेमोरी में लोड किया जाए, किसी अन्य कार्य जैसे इनपुट आउटपुट के लिए जब प्रोग्राम सस्पेंड होता है तो इसे मेमोरी से हटाकर सेकेंडरी मेमोरी में स्टोर किया जाता है अन्य कार्य पूरा होने के पश्चात इसे द्वितीयक मेमोरी से पुनः मेन मेमोरी में लोड करके आगे एग्जीक्यूट कर दिया जाता है इस संपूर्ण प्रक्रिया को ओवैस के द्वारा ही हैंडल किया जाता है,


 Memory management Component निम्न कार्यों के लिए उत्तरदाई होता है,

  • Process के लिए memory space allocate तथा Disa locate करता है,

  • यह निर्धारित करता है कि मेमोरी का कौन सा भाग किस प्रोसेस को देना है, 


फाइल मैनेजमेंट
(File Management )

Data के समूह को फाइल के रूप में कंप्यूटर में स्टोर किया जाता है। फाइलों को व्यवस्थित करने के लिए फोल्डर या डायरेक्टरीज का निर्माण किया जाता है, फाइलों को स्टोर करने के लिए विभिन्न सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस ओं का प्रयोग किया जाता है,


यह कॉम्पोनेंट निम्न कार्यों के लिए उत्तरदाई होता है,

  • फाइलों को बनाना है तथा  डिलीट करना,

  • फोल्डर हो या डायरेक्टरी  बनाना या डिलीट करना,

  • वैश्विक कमांड प्रदान करता है जिन से फाइलों तथा डायरेक्टरीज में संशोधन किया जा सके,

  • फाइलों तथा डायरेक्टरीज के लिए सेकेंडरी स्टोरेज में जगह प्रदान करना तथा उनका प्रबंधन करना,



सेकेंडरी स्टोरेज मैनेजमेंट 
(Secondary Storage Management )

वर्तमान समय में डिस्क का प्रयोग सेकेंडरी मेमोरी के रूप में किया जाता है। अतः कंप्यूटर सिस्टम में डिस्क का प्रबंधन एक मुख्य कार्य होता है,


इस कंपोनेंट के द्वारा निम्न कार्य किए जा सकते हैं

  • Free space management  

  • Disk scheduling

  • Disk storage allocation



इनपुट आउटपुट सिस्टम मैनेजमेंट
(Input output system management )

इनपुट आउटपुट डिवाइसेज किसी कंप्यूटर सिस्टम का महत्वपूर्ण अंग होती है प्रत्येक इनपुट आउटपुट डिवाइस के अपने अलग-अलग कमांड्स के समूह होते हैं ओएसएन अंतरों को छुपाते हुए यूजर को कार्य करने के लिए एक आसान इंटरफ़ेस प्रदान करता है।


इस कंपोनेंट के निम्न कार्य हैं।

  • यूजर को आसान इंटरफ़ेस प्रदान करना,

  • Buffering ,caching तथा स्कूलिंग करना,



अन्य बातें 
आप को हमारी इस वेबसाइट मैं इस से रिलेटेड और भी बातें जानने को मिल जयिंगी उन्हें भी जरूर देखें ,


और नया पुराने